Display ad

लॉरेंस बिश्नोई का जीवन परिचय। sidhu moose wala murder case reason in hindi

 लॉरेंस बिश्नोई का जीवन परिचय। sidhu moose wala murder case reason in hindi



लॉरेंस बिश्नोई का जीवन परिचय, सिद्धू मूसे वाला की मर्डर केस | Lawrence Bishnoi ka Jivan Parichay biography|Lawrence Bishnoi Biography



असली नाम (Real Name)  लॉरेंस बिश्नोई

प्रसिद्दि (Famous For ) 29 मई 2022 को पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी लेना

जन्मदिन (Birthday)  22 फरवरी 1992. 

जन्म स्थान (Birth Placeफाजिल्का, पंजाब, भारत

उम्र (Age ) 30 साल (साल 2022 तक )

शिक्षा (Education ) ग्रेजुएशनकॉलेज (College )डीएवी कॉलेज ,चंडीगढ़ 

 नागरिकता  (Citizenship)भारतीय

गृह नगर (Hometown) अबोहर, पंजाब, भारत

धर्म (Religionसिखजाति 

(Cast )  जाटलम्बाई

 (Height)  5 फीट 9 इंच

वजन  (Weight )76 किग्रा


हेलो दोस्तों नमस्कार आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे  लॉरेंस बिश्नोई का जीवन परिचय। sidhu moose wala murder case reason in hindi के बारे में।

दोस्तों लॉरेंस बिश्नोई भारत का एक प्रसिद्ध गैंगस्टर है वह अपनी अपराधिक गतिविधियों के लिए जाना जाता है पूरे भारत में और इस वजह से वह कई बार जेल जा चुके हैं।

को सबसे ज्यादा लोकप्रिय कब हुए थे चर्चा में उस टाइम आए थे जब इन्होंने सलमान खान को मारने की धमकी दे डाली थी।

लॉरेंस बिश्नोई लेटेस्ट हाईलाइट

29 मई 2022 को लॉरेंस बिश्नोई एवं उनके गैंग ने पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी अपने उपर ली है। कुछ समय से सिद्धू मूसेवाला एवं लॉरेंस बिश्नोई के बीच गरमा गर्मी चल रही थी। 


सिद्धू मुसेवाला को मरने वाला लॉरेंस बिश्नोई कौन है?


सोशल मीडिया के अनुसार सिद्धू लॉरेंस बिश्नोई की विरोधी पार्टी को बहुत सपोर्ट कर रहे थे जो उनको पसंद नहीं आ रहा था। इसी रंजिश के मारे उन्होंने खुले आम सिद्धू मूसेवाला को गोलियों से उनकी कार पर दनादन कम से कम 10 राउंड फायरिंग कर दी ।


लॉरेंस बिश्नोई के सिद्धू मूसे वाला की हत्या की जिम्मेदारी लेने के कुछ समय के बाद कनाडा में रहने वाले भारतीय मूल के निवासी गोल्डी बराड़ ने मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी ली है।


लॉरेंस बिश्नोई का जन्म और परिवार


लॉरेंस ने वर्ष 1992 में भारत के पंजाब के अबोहर गांव में जन्म लिया। वह बिश्नोई जाति से ताल्लुक रखते हैं। उनके पिता “लविंदर सिंह” एक पूर्व पुलिस कांस्टेबल हैं। उनकी मां गृहिणी हैं।


लॉरेंस बिश्नोई की शिक्षा (Lawrence Bishnoi Education)

वह अपने भाई-बहनों के साथ सरकारी स्कूल में पढ़ता था। उसके बाद उसने चंडीगढ़ के डीएवी कॉलेज में दाखिला लिया। इसी कॉलेज से उन्होंने ग्रेजुएशन किया।

उनके कॉलेज के एक टीचर ने इंटरव्यू में बताया

“यह 2010 की बात है जब हमारे कॉलेज में स्नातक पाठ्यक्रमों की वार्षिक परीक्षा चल रही थी। एक परीक्षा के दौरान, एक छात्र एक चिट से नकल करते पकड़ा गया था। निरीक्षक उसे परीक्षा अधीक्षक को सौंपने ही वाला था कि छात्र ने अपनी उत्तर पुस्तिका के साथ एक मंजिला इमारत की खिड़की से छलांग लगा दी। एक सुरक्षा गार्ड ने उसे अपनी शर्ट से पकड़ लिया लेकिन वह अपनी शर्ट गार्ड के हाथों में छोड़कर भागने में सफल रहा। बाद में, छात्र का नाम हमारे सामने आया – लॉरेंस बिश्नोई, ”सेक्टर 10 में डीएवी कॉलेज में राजनीति विज्ञान के एक प्रोफेसर ने कहा।

नाम जाहिर न करने की शर्त पर प्रोफेसर ने आगे कहा, “वह एक संकटमोचक थे। लेकिन हमने कभी नहीं सोचा था कि वह इतना खूंखार नाम बन जाएगा और जेल में बैठकर अपनी गैंग चलाएगा, जो हमने सिर्फ फिल्मों में देखा था। ”

डीएवी कॉलेज की परीक्षा शाखा के एक स्टाफ सदस्य ने कहा,

‘वह आक्रामक था। वह हमेशा कर्मचारियों के साथ बहस करने के लिए उत्सुक रहता था। वह इतना कुख्यात था कि मुझे उसका रोल नंबर आज भी याद है। उन्होंने दो बार बीए पार्ट-1 पास करने का प्रयास किया, लेकिन असफल रहे। एक बार वह परीक्षा देने के लिए हथकड़ी बांधकर कॉलेज आया था।

लॉरेंस बिश्नोई का करियर (Lawrence Bishnoi Career)

लॉरेंस ने चंडीगढ़ के डीएवी कॉलेज के चुनाव में भी हिस्सा लिया।हालांकि वह चुनाव हार गए, लॉरेंस डॉन बनने के सपने के प्रति जाग उठा। लॉरेंस ने इस दौरान सार्वजनिक रूप से अपनी विपक्षी पार्टी से लड़ाई लड़ी। 

इस कारण पुलिस में मामला भी दर्ज किया गया है। इसके बाद वह गलत रास्ते पर चलने लगा। फिर उसने अपने दोस्तों के साथ एक समूह बनाया और गुंडागर्दी शुरू कर दी। मौजूदा समय में वह देश का जाना-माना गैंगस्टर है।

लॉरेंस बिश्नोई की कहानी -कैसे बना सबसे चालक और खतरनाक गैंगेस्टर

दोस्तों लॉरेंस बिश्नोई की गैंगस्टर बनने की कहानी किसी फिल्म की स्टोरी से कम नहीं है. अगर लॉरेंस के करीबियों की माने तो पहले ऐसा नहीं था.

पहले उसकी एक गर्लफ्रेंड हुआ करती थी. जिसके साथ वह खुशी-खुशी टाइम बिताया करता था. लॉरेंस और उसकी गर्लफ्रेंड दोनों अबोहर के कान्वेंट स्कूल से 10 वी तक साथ पढ़े थे, और यही से वे एक-दूसरे को पसंद करने लगे थे. जहां बड़े होने पर बचपन का प्यार छूट जाता है पर इन दोनों का प्यार समय के साथ और गहरा होता चला गया.

इन्होंने चंडीगढ़ के डीएवी स्कूल से 12वीं की पढ़ाई भी साथ ही की थी. वर्ष 2008 में सोपु की ओर से विद्यालय में छात्र संघ का चुनाव लड़ा. जिसमे ये हार गया था.

छात्र संघ का चुनाव हारने के बाद इसकी दूसरे पक्ष से दुश्मनी हो गई, जिसने लॉरेंस को चुनाव में हराया था. एक बार दोनों पक्ष आमने-सामने हो गए और फायरिंग करने लगे. इस वारदात ने लॉरेंस की जिंदगी को पूरी तरह से बदल दिया.

सामने वाले पक्ष से गहरी दुश्मनी होने की वजह से लॉरेंस को अपने प्यार को खोना पड़ा था. लॉरेंस को जानने वाले लोग बताते हैं कि हमने वाले पक्ष ने एक साजिश के तहत लॉरेंस की गर्लफ्रेंड की हत्या कर दी थी.

इसी केस की वजह से लॉरेंस जुर्म की दुनिया में उतरा था. इसके बाद लॉरेंस ने कई अपराधों को अंजाम दिए. मासूम से दिखने वाले लॉरेंस पर हथियार सप्लाई व फायरिंग समेत कई मामले दर्ज है.

अभी कुछ दिनों पहले ही लॉरेंस ने सलमान खान को उसे मारने की धमकी दी थी. जिसके बाद से वह सुर्खियों में है.

इसके अलावा, वह ज्यादातर समय अपने दोस्तों और समूह के साथ बिताना पसंद करते हैं। सूत्रों के मुताबिक लॉरेंस अभी भी पुलिस हिरासत में है। लेकिन उनके ग्रुप के साथी उन्हें बाहर से पूरा सपोर्ट करते हैं।

लॉरेंस बिश्नोई और सलमान खान विवाद (Lawrence Bishnoi & Salman Khan Controversy)

जनवरी 2018 में, लॉरेंस ने घोषणा की कि वह बॉलीवुड स्टार सलमान खान को मारने की प्रक्रिया में है। उन्होंने कहा था कि जोधपुर में सलमान खान को मार दिया जाएगा। तब उसे हमारे बारे में पता चलेगा।”

इसके बाद राजस्थान पुलिस ने कैन में आकर लॉरेंस गैंग के सदस्यों को गिरफ्तार करना शुरू कर दिया. पु लॉरेंस ने वर्ष 1992 में भारत के पंजाब के अबोहर गांव में जन्म लिया। वह बिश्नोई जाति से ताल्लुक रखते हैं। उनके पिता “लविंदर सिंह” एक पूर्व पुलिस कांस्टेबल हैं। उनकी मां गृहिणी हैं।


सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी लेना 

कांग्रेस नेता और पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की आज मनसा जिले में गोली मारकर हत्या कर दी गई। फायरिंग में दो अन्य लोग घायल हो गए। घटनास्थल से तीन एके-94 राइफल की गोलियां मिलीं। 

लोकप्रिय पंजाबी गायक से नेता बने सिद्धू मूसेवाला की रविवार (29 मई) को हत्या के कुछ घंटों बाद कनाडा के एक गैंगस्टर गोल्डी बरार ने हत्या की जिम्मेदारी ली है। हत्या में लॉरेंस बिश्नोई का नाम भी सामने आया है। बरार ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर जिम्मेदारी का दावा करते हुए लिखा कि ‘हत्या के पीछे वह और लॉरेंस बिश्नोई समूह थे’।

“आज पंजाब में मूसेवाला मारा गया, मैं, सचिन बिश्नोई, लॉरेंस बिश्नोई जिम्मेदारी लेता हूं। यह हमारा काम है। मूसेवाला का नाम हमारे भाई विक्रमजीत सिंह मिड्दुखेड़ा और गुरलाल बराड़ की हत्या में सामने आया, लेकिन पंजाब पुलिस ने उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। हमें यह भी पता चला कि मूसेवाला हमारे सहयोगी अंकित भादू के एनकाउंटर में भी शामिल था। मूसेवाला हमारे खिलाफ काम कर रहा था। दिल्ली पुलिस ने उसका नाम लिया था लेकिन मूसेवाला ने अपनी राजनीतिक शक्ति का इस्तेमाल किया ”


फ़िलहाल कहाँ है लॉरेंस बिश्नोई ?

बता दें कि लॉरेंस बिश्नोई फिलहाल राजस्थान के जेल में बंद है और जेल से गैंग ऑपरेट कर रहा है. उसके गैंग में 700 शूटर हैं जो कनाडा समेत विदेशों में मौजूद हैं।

लॉरेंस बिश्नोई पर कितने केस है?

 ल.बिश्नोई पर 50 से ज्यादा आपराधिक मामले दर्ज हो चुके है। इसकी गैंग में 600 से ज्यादा सार्प शूटर शामिल है।


दोस्तों आज का हमारा यह पोस्ट लॉरेंस बिश्नोई का जीवन परिचय। sidhu moose wala murder case reason in hindi आपको कैसा लगा।

Post a Comment

0 Comments

Close Menu