Display ad

Rinku Singh IPL 2022:Rinku Singh IPL| Rinku Singh Success Story hindi

रिंकू सिंह का जीवन परिचय, रिंकू सिंह की बायोग्राफी, उम्र और जीवनी {Rinku Singh (Cricketer) Biography in Hindi, Age, Wiki, IPL and Cricket Career}



रिंकू सिंह एक भारतीय क्रिकेटर हैं जो घरेलू क्रिकेट में उत्तर प्रदेश के लिए खेलते हैं. वह बाएं हाथ के बल्लेबाज और दाएं हाथ के ऑफ ब्रेक गेंदबाज हैं।

 रिंकू सिंह का नाम पांच साल पहले सुर्खियों में आया। उत्‍तर प्रदेश के अलीगढ़ से कोई क्रिकेटर पहली बार इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) नीलामी में बिका था। रिंकू को शाहरुख खान की कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) ने खरीदा था।


रिंकू के परिवार में कौन-कौन है?( Rinku Singh family)

रिंकू पांच भाई-बहनों में तीसरे नंबर के हैं। अलीगढ़ में उनके परिवार ने काफी बुरा दौर देखा है।


पिता करते हैं LPG सिलिंडर्स की डिलिवरी(Rinku Singh father)

रिंकू सिंह के पिता खानचंद्र आज भी अलीगढ़ के घरों में LPG सिलिंडर्स डिलिवर करते हैं। रिंकू का बड़ा भाई ऑटो रिक्‍शा चलाता है जबकि दूसरा भाई कोचिंग सेंटर में काम करता है।

रिंकू सिंह की कहानी फर्श से अर्श तक पहुंचने जैसी है। उनका परिवार अलीगढ़ स्‍टेडियम के पास LPG कंपनी के स्‍टोरेज कंपाउंड में दो कमरों वाले क्‍वार्टर्स में रहता था।

 Rinku Singh education

रिंकू सिंह के परिवार पर 5 लाख रुपये का कर्ज था। '9वीं फेल' रिंकू को क्रिकेट में ही मौका दिख रहा था। यूपी की अंडर-19 टीम से खेलते हुए रिंकू ने डेली अलाउंस भी बचाया ताकि पैसे जुटा सकें।


Rinku Singh IPL 2022:Rinku Singh IPL| Rinku Singh Success Story hindi 

घरवालों को नहीं पसंद था रिंकू का खेलना 

रिंकू का क्रिकेट खेलना परिवार को पसंद नहीं था मगर 2012 के एक स्‍कूल टूर्नमेंट में जब रिंकू ने बाइक जीती तो घरवालों का मन बदलने लगा। शुरुआत में क्रिकेट से जो पैसा कमाया, वह कर्ज चुकाने में चला गया।

मुंबई मिरर से बातचीत में रिंकू ने बताया था, '2012 में दिल्‍ली पब्लिक स्‍कूल वालों ने एक वर्ल्‍ड कप कराया जिसमें पाकिस्‍तान, श्रीलंका और बांग्‍लादेश खेलने आए। मैंने 354 रन बनाए और 8 विकेट्स लिए। मुझे मैन ऑफ द सीरीज अवार्ड मिला और एक बाइक मिली। मेरे माता-पिता मैदान पर मौजूद थे। जब भी मैं क्रिकेट खेलता तो मेरे पापा मुझे पीटते थे मगर उस मैच के बाद उन्‍होंने कभी मुझे हाथ तक नहीं लगाया।'

Post a Comment

0 Comments

Close Menu