Display ad

छोटे शेयरों ने दिया 36.64 प्रतिशत का big returns, Sensexऔर Nifty को पीछे छोड़ा

 Small stocks gave big returns of 36.64 percent, left behind Sensex and Nifty


 बीते वित्त वर्ष में बीएसई का स्मॉलकैप सूचकांक 7,566.32 अंक या 36.64 प्रतिशत चढ़ गया। वहीं मिडकैप में 3,926.66 अंक या 19.45 प्रतिशत की बढ़त रही। सेंसेक्स वित्त वर्ष 2021-22 में 18.29 प्रतिशत चढ़ा।

In the last financial year, the BSE Smallcap index rose 7,566.32 points or 36.64 per cent. On the other hand, Midcap gained 3,926.66 points or 19.45 per cent. Sensex rose 18.29 per cent in FY 2021-22.


बीते वित्त वर्ष 2021-22 में छोटे शेयरों (स्मॉलकैप) ने निवेशकों को 36.64 प्रतिशत का बड़ा रिटर्न दिया है। इस तरह छोटी कंपनियों के शेयरों ने प्रतिफल देने के मामले में सेंसेक्स और निफ्टी को पीछे छोड़ दिया है। विशेषज्ञों का मानना है कि 2022-23 में भी स्मॉलकैप का बेहतर प्रदर्शन जारी रहेगा। बीते वित्त वर्ष में बीएसई का स्मॉलकैप सूचकांक 7,566.32 अंक या 36.64 प्रतिशत चढ़ गया। वहीं मिडकैप में 3,926.66 अंक या 19.45 प्रतिशत की बढ़त रही। इसकी तुलना में सेंसेक्स वित्त वर्ष 2021-22 में 9,059.36 अंक यानी 18.29 प्रतिशत चढ़ा।


In the last financial year 2021-22, small stocks (smallcaps) have given big returns of 36.64 percent to investors. In this way, the shares of small companies have outperformed the Sensex and Nifty in terms of returns. Experts believe that Smallcaps will continue to outperform in 2022-23 as well. In the last financial year, the BSE Smallcap index rose 7,566.32 points or 36.64 per cent. On the other hand, Midcap gained 3,926.66 points or 19.45 per cent. In comparison, the Sensex rose 9,059.36 points, or 18.29 per cent, in the financial year 2021-22.

Community-verified icon

Post a Comment

0 Comments

Close Menu