Ad Code

S Somnath biography एस सोमनाथ ISRO के नए चीफ का जीवन परिचय।

 


केंद्र सरकार ने बुधवार यानी आज एस. सोमनाथ(S Somnath )को अंतरिक्ष विभाग का सचिव और अंतरिक्ष आयोग का अध्यक्ष नियुक्त किया. सोमनाथ फिलहाल विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र (VSSC) के निदेशक हैं. कार्मिक मंत्रालय के आदेश में कहा गया है कि उनकी नियुक्ति तीन साल के लिये की गई है. सोमनाथ के. सिवन की जगह लेंगे, जिनका कार्यकाल शुक्रवार 14 जनवरी को समाप्त होने जा रहा है.


s somanath full name


ssomanath education


s somanath date of birth


S somanath wiki


s somanath age


s somanath biography


s somanath wikipedia


s Somanath twitter


S Somanath profile



s somanath biography in hindi 


कहां से हुई है एस. सोमनाथ की पढ़ाई

सोमनाथ ने कोल्लम के टीकेएम कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में डिग्री प्राप्त की है. उसके बाद उन्होंने आईआईएस बेंगलुरु से एयरोस्पेस में पीजी किया. 1985 से वह विक्रम साराभाई स्पेस केंद्र से जुड़े. 2010 से 2014 तक वह जीएसएलवी एमके 3 के प्रोजेक्ट मैनेजर रह चुके हैं.

एस. सोमनाथ का सफरनामा

सोमनाथ अपने करियर के शुरुआती चरणों के दौरान पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (PSLV) के एकीकरण के लिए एक टीम लीडर थे. उन्हें तीन साल के कार्यकाल के लिए अंतरिक्ष विभाग के सचिव और अंतरिक्ष आयोग के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया. वह 22 जनवरी, 2018 से विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र (VSSC) के निदेशक का नेतृत्व कर रहे हैं.

PSLV के 11 सफल मिशनों में निभाई है महत्वपूर्ण भूमिका 

एस सोमनाथ 1985 में वीएसएससी में शामिल हुए. वह जून 2010 से 2014 तक जीएसएलवी एमके- III के परियोजना निदेशक थे. वे नवंबर 2014 तक वीएसएससी में ‘स्ट्रक्चर’ इकाई के उप निदेशक और वीएसएससी में ‘प्रणोदन और अंतरिक्ष अध्यादेश इकाई’ के उप निदेशक भी थे. उन्होंने स्वदेशी क्रायोजेनिक चरणों के साथ जीएसएलवी के तीन सफल मिशनों और एलपीएससी द्वारा महसूस किए गए तरल चरणों के साथ पीएसएलवी के 11 सफल मिशनों में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. एलपीएससी से आपूर्ति की गई प्रणोदन प्रणाली के साथ पंद्रह सफल उपग्रह मिशन भी पूरे किए गए.

कौन हैं एस सोमनाथ 

एस सोमनाथ एक रॉकेट वैज्ञानिक हैं जो वर्तमान में विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र के निदेशक हैं.

सोमनाथ एलपीएससी (LPSC), वालियामाला, तिरुवनंतपुरम के निदेशक के रूप में ढाई साल के कार्यकाल के बाद 22 जनवरी, 2018 को वीएसएससी के प्रमुख के रूप में कार्यभार संभाला. 

इससे पहले, उन्होंने विक्रम साराभाई स्पेस सेंटर के एसोसिएट डायरेक्टर (प्रोजेक्ट्स) और जीएसएलवी एमके-III लॉन्च वेहिकल के प्रोजेक्ट डायरेक्टर के रूप में भी काम किया. 

एस सोमनाथ के नेतृत्व में एलवीएम3-एक्स/केयर मिशन की पहली प्रायोगिक उड़ान 18 दिसंबर 2014 को सफलतापूर्वक संपन्न हुई. 

सोमनाथ ने टीकेएम कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, कोल्लम से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बी टेक, और भारतीय विज्ञान संस्थान, बैंगलोर से एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में मास्टर्स की. वह एक गोल्ड मेडलिस्ट थे. 

सोमनाथ 1985 में वीएसएससी में शामिल हुए और शुरुआती चरणों के दौरान पीएसएलवी के एकीकरण के लिए एक टीम लीडर थे. 

एस सोमनाथ लॉन्च वाहनों के सिस्टम इंजीनियरिंग के क्षेत्र में विशेषज्ञ हैं. 


Post a Comment

0 Comments

Close Menu