Ad Code

Mahipal Maderna Biography । महिपाल मदेरणा का जीवन परिचय।

 


महिपाल मदेरणा का जीवन परिचय।

राजस्थान में पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा का रविवार सुबह निधन हो गया। 69 वर्षीय मदेरणा कैंसर की बीमारी से पीड़ित थे। महिपाल मदेरणा का नाम जोधपुर जिले की एएनएम भंवरी देवी के किडनैपिंग और मर्डर केस में सुर्खियों में आया था। उस वक्त मदेरणा राजस्थान के जल-संसाधन मंत्री थे। बाद में इसी केस के चलते उन्हें अपने पद से हाथ धोना पड़ा था। भंवरी देवी केस में मदेरणा को दस साल की जेल भुगतनी पड़ी थी। कुछ वक्त पहले ही उन्हें हाईकोर्ट से जमानत मिली थी। 


5 मार्च 1952 को महिपाल मदेरणा (Mahipal Maderna) का जन्म जोधपुर (Jodhpur) जिले के फैलोदी में श्रीलक्ष्मणनगर दिग्गज जाट नेता परसराम मदेरणा (parasram maderna) के घर हुआ। महिपाल मदेरणा ने जोधपुर विश्वविद्यालय, जोधपुर से बी.ए., एल.एल.बी तक शिक्षा प्राप्त की है। 


महिपाल मदेरणा का विवाह 8 दिसंबर 1982 में श्रीमती लीलादेवी (Leela Maderna) के साथ हुआ जिनकी दो पुत्रियां बड़ी बेटी दिव्या मदेरणा (Divya Maderna)  और छोटी छोटी रूबल मदेरणा (Rubal Maderna)  है। जिनकी बड़ी पुत्री दिव्या मदेरणा वर्ष 2018 में जोधपुर के ओसियां (Osian) विधानसभा क्षेत्र से विधायक का चुनाव में जीत हासिल की।


महिपाल मदेरणा वर्ष 2003 में जोधपुर जिले के भोपालगढ़ (Bhopalgarh) विधानसभा से 12वी राज्य विधानसभा के लिए निर्वाचित हुए। मदेरणा वर्ष 2000 से 2005 तक जनलेखा सीमित के सदस्य भी रहे। ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज क्षेत्र में सक्रिय रहे श्री मदेरणा वर्ष 1981, 88, 94, 2000 में लगातार चार बार जोधपुर जिला परिषद के जिला प्रमुख बने। महिपाल मदेरणा केन्द्रीय सहकारी बैंक जोधपुर, मार्केटिंग सोसायटी, भोपालगढ, ग्राम सहकारी समिति, चाडी, तहसील फलौदी के अध्यक्ष भी रहे।


महिपाल मदेरणा को भोपालगढ़ की सीट रिजर्वेशन जाने के कारण उसे छोड़ ओसियां विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लडा और 13वी राज्य विधानसभा के लिए निर्वाचित हुए। महिपाल मदेरणा की अध्ययन के साथ साथ बैडमिंटन व टेनिस खेल में विशेष अभिरुचि है।


महिपाल मदेरणा को 19 दिसंबर 2008 को राजभवन में महामहिम राज्यपाल ने गहलोत मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री के रूप में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। महिपाल मदेरणा को जल संसाधन, इंदिरा गांधी नहर, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी, भूजल, सिंचित क्षेत्र विकास विभाग का मंत्री बनाया गया।


वर्ष 2011 में महिपाल मदेरणा पर भंवरी देवी (Bhanwri Devi) के लापता होने से संबंधित मामले में शामिल होने का आरोप लगाया गया। 1 सितंबर 2011 को भंवरी देवी लापता हो गई थी उसके बाद उनके पति अमरचंद (Amarchand Nat) ने आरोप लगाया की महिपाल मदेरणा के आदेश पर उनका अपहरण किया गया था। इसके बाद में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने 26 अक्टूबर 2011 को महिपाल मदेरणा को मंत्री पद से बर्खास्त कर दिया।


उसके बाद सीबीआई (CBI) ने महिपाल मदेरणा को 3 दिसंबर को गिरफ्तार किया और पूछताछ की। जिसमे बाद में मदेरणा को प्रमुख संदिग्धों सहीराम बिश्नोई (Sahiram Bishnoi), शहाबुद्दीन (Shahabuddin) और सहीराम बिश्नोई के साथ जेल में बंद कर दिया गया था। बाद में पता चला की महिपाल मदेरणा और कांग्रेस विधायक मलखान सिंह (Malkhan Singh) का पूरी साजिश में हाथ था। क्युकी भंवरी देवी इन दोनो को ब्लैकमेल कर रही थी।


महिपाल मदेरणा का जीवन परिचय।


महिपाल मदेरणा न्यूज,

महिपाल मदेरणा ताजा खबर,


Post a Comment

0 Comments

Close Menu