Ad Code

अशोक गहलोत का जीवन परिचय।Ashok Gehlot Biography in Hindi !!





 अशोक गहलोत की जीवनी | Ashok Gehlot Biography in Hindi !!


अशोक गहलोत की शिक्षा | Ashok Gehlot Education !!


अशोक गहलोत का परिवार | Ashok Gehlot Family !!


अशोक गहलोत की जाति क्या है | Ashok Gehlot Caste in Hindi !!


अशोक गहलोत की भौतिक अवस्था | Ashok Gehlot Body Measurement !!


अशोक गहलोत की कुल संपत्ति | Ashok Gehlot Net Worth !!


अशोक गहलोत की सैलरी | आय !!


अशोक गहलोत के पिछले कार्य काल !!


अशोक गहलोत का इतिहास | Ashok Gehlot History in Hindi !!


अशोक गहलोत के रोचक तथ्य | Ashok Gehlot Facts in Hindi !!




अशोक गहलोत कौन है !!

अशोक गहलोत एक भारतीय राजनेता है जो कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रिय महासचिव हैं साथ ही ये संगठनों और प्रशिक्षण के प्रभारी भी हैं. ये एक बार राजस्थान के मुख्य मंत्री भी रह चुके हैं. इनका कार्यकाल 1998 से 2003 तक चला. ये जोधपुर, राजस्थान के रहने वाले हैं और साथ ही ये विधानसभा में सरदारपुरा को रिप्रेजेंट करते हैं.



Ashok Gehlot Biography in Hindi !!

असली नाम: अशोक गहलोत

उपनाम: अशोक

व्यवसाय: भारतीय राजनीतिज्ञ

राजीनीति पार्टी: भारतीय राष्ट्रिय कांग्रेस

जन्मदिन: 3 मई 1951

जन्मस्थान: महामंदिर, जोधपुर, राजस्थान, भारत

उम्र: 3 मई 1951 से अभी तक

राशि नाम: वृष

धर्म: हिन्दू

राष्ट्रीयता: भारतीय

घर: महामंदिर, जोधपुर, राजस्थान, भारत

पता: जयपुर, राजस्थान

शौक: जानकारी नहीं

पसंदीदा नेता: सोनिआ गाँधी

अशोक गहलोत की शिक्षा | Ashok Gehlot Education !!

स्कूल: पता नहीं

कॉलेज: जोधपुर यूनिवर्सिटी, राजस्थान, भारत

शैक्षिक योग्यता: बीएससी, लॉ, मास्टर्स अर्थशास्त्र में

अशोक गहलोत का परिवार | Ashok Gehlot Family !!

पिता: बाबू लक्षम सिंह गहलोत

माता: नहीं पता

बहन: नहीं पता

भाई: अग्रसेन गहलोत

वैवाहिक स्थिति: शादीशुदा

पत्नी: सुनीता गहलोत

शादी की तारीख: 27 नवम्बर 1977

बच्चे: वैभव (बेटा), सोनिआ (बेटी)



अशोक गहलोत के पिछले कार्य काल !!

# इन्हे 1979 में सिटी डिस्ट्रिक्ट कांग्रेस कमिटी जोधपुर के अध्यक्ष के रूप में चुना गया.

# 1980 में इन्होने 7वां लोक सभा चुनाव लड़ा और जोधपुर को रिप्रेजेंट किया। बाद में लगातार इन्हे 8, 10, 11, 12 लोक सभा सीट के लिए चुना गया.
# 1980 में ये पब्लिक अकाउंट कमिटी के सदस्य के लिए भी चुनाव में खड़े हुए.

# 1982 में इन्हे राजस्थान राज्य की कांग्रेस कमिटी के महासचिव के रूप में नियुक्त किया गया.

# उसी साल इन्होने यूनियन डिप्टी मंत्री और पर्यटन विभाग के लिए भी चुना गया.

# 1983 में भी इन्हे पर्यटन विभाग और के लिए यूनियन डिप्टी मंत्री चुना गया.

# 1984 में खेल विभाग के यूनियन डिप्टी मंत्री के रूप में कार्य भार संभाला.

# 1985, 1994, 1997 में राजस्थान के कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष का कार्यभार संभाला.

# 1991 में इन्हे संचार (लोकसभा) पर परामर्श समिति के रूप में नियुक्त किया गया और उसी साल इन्हे रेलवे के लिए स्टैंडिंग कमिटी का सदस्य भी बनाया गया.

# 1998 में इन्हे राजस्थान का मुख्यमंत्री बनाया गया.

# 1999 में इन्हे सरदारपुर से विधानसभा का सदस्य बनाया गया.

# 2008 में ये एक बार फिर मुख्य मंत्री बने.

# 2017 में इन्हे पुरे भारत की कांग्रेस कमिटी का महासचिव चुना गया.

अशोक गहलोत का इतिहास | Ashok Gehlot History in Hindi !!

इनका जन्म महामंदिर, जोधपुर में बाबू लक्समन गेहलोत के घर हुआ. ये छोटे से ही पढ़ने में अच्छे हुआ करते थे और इसी लिए इन्होने अपने करियर के लिए विज्ञानं वर्ग को चुना और साथ ही इन्होने अपनी रूचि लॉ में भी दिखाई और अपनी डिग्री लॉ में भी पूर्ण की. उसके बाद इन्होने अपनी मास्टर की डिग्री के लिए अर्थशास्त्र को चुना. इनकी शादी सुनीता से कराई गयी जिनसे इन्हे एक बेटा और बेटी है.

ये कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में से एक हैं जिनकी पकड़ राजस्थान में अच्छी है. जब ये छोटे थे तब ही से इन्हे सामाजिक कार्यों में रूचि रहा करती थी जिसके कारण इन्होने राजनीती को चुना. ये महात्मा गाँधी के बड़े फैन हैं और इन्हे उनकी पढ़ाई हुई चीजें बहुत पसंद थी.

इन्होने 1971 में पूर्वी बंगाली रेफुसी कैंप में अपना सहयोग दिया जहां इन्हे पूर्व प्रधान मंत्री इंदिरा गाँधी ने देखा और इनकी क़ाबलियत देखते हुए इन्हे राजस्थान के राष्ट्रिय छात्र संघ के अध्यक्ष बना दिया.

अशोक गहलोत के रोचक तथ्य | Ashok Gehlot Facts in Hindi !!

# ये कॉलेज के समय से ही उन छात्रों में से थे जो राजनीती में हमेशा सक्रिय रहते थे. इन्हे 1973 से 1979 तक युवा संघ कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष भी बनाया गया.

# इन्होने जब 1971 में रिफ्यूजी कैंप में भाग लिया तो वहां इंदिरा गाँधी जो उस समय प्रधान मंत्री थी उन्होंने गहलोत को पहली बार नोटिस किया क्यूंकि ये उस कैंप को बहुत अच्छे से संभाल रहे थे जिसके बाद उन्होंने गहलोत को राष्ट्रिय छात्र संघ का अध्यक्ष बना दिया.

# इन्होने और भी कई कैंप में अपनी भागेदारी निभाई है जैसे की तरुण शांति सेना इंदौर में, सेवाग्राम में, औरंगाबाद और वर्धा में.

# 1989 में इन्होने राजस्थान के ग्रह मंत्री का कार्यभार संभाला.

# जब ये राजस्थान के मुख्यमंत्री थे तो इनके काम के लिए इन्हे काफी सराह गया जैसे की जब सूखा पड़ा था तो उसे भी इन्होने अच्छे से संभाला था और 70 लाख दिन के रोजगार के लिए भी इन्हे काफी प्रसंशा मिली.

# इन्होने एक संस्था का निर्माण किया जिसका नाम भारत सेवा संसथान है जिसमे राजीव गाँधी मेमोरियल बुक बैंक द्वारा फ्री में किताबे दी जाती हैं और एम्बुलेंस की भी सुविधा उपलब्ध है.





Post a Comment

0 Comments

Close Menu